dark circles under eyes

दोस्तों, जैसा कि आप सब जानते हैं, आज कल की दुनिया में लोग पैसे कमाने की होड़ में लगे हुए हैं। यही कारण है कि लोग अपनी सेहत की ओर बिलकुल भी ध्यान नहीं दे रहे हैं। ऐसे में कई सारी समस्याएं घेर रही हैं। जिनमें से एक है dark circles under eyes डार्क सर्कल यानी काले घेरे

दोस्तों आज हम इसी समस्या के बारे में आपको विस्तार से बताने वाले हैं। अगर आप जानना चाहते हैं कि ये क्यों होता है और इसके उपाय क्या हैं तो हमारे इस लेख को पूरा पढ़े। यह समस्या हर उम्र के लोगों में देखी जा सकती है। जिन लोगों के चेहरे पर डार्क सर्कल हो जाते हैं उनका चेहरा काफी ज्यादा खराब दिखने लगता dark circles under eyes है। इतना ही नहीं, ऐसे लोग बहुत अधिक बीमार दिखने लगते हैं और चेहरे पर डलनेस आ जाती है। चलिए सबसे पहले बात करते हैं कि क्यों होता है डार्क सर्कल।

डार्क सर्कल यानी आखों के नीचे काले घेरे होने के कई कारण हो सकते हैं। दोस्तों, कई बार देखा गया है कि कुछ लोगों में यह समस्या जेनेटिक होती है। हालांकि ये बीमारी जेनेटिक क्यों है, वैज्ञानिक अभी तक इसको समझ नहीं पाए हैं। इस प्रकार के डार्क सकल्र्स dark circles under eyes को रिमूव करना थोड़ा सा मुश्किल जरूर है पर नामुम्किन नहीं। जिन लोगों में ये समस्या जेनेटिक है उनकी ये समस्या पूरी तरह से तो नहीं मिट सकती लेकिन कुछ घरेलू उपायों को करके इन्हें काफी ज्यादा लाइट किया जा सकता है ताकि ये दूसरों को दिखाई न दें सकें।

डार्क सर्कल के कारण | Dark Circles Under Eyes

ज़्यादा टीवी या मोबाइल देखना

दोस्तों वो कहते हैं न dark circles under eyes कि किसी भी चीज़ की अति अच्छी नहीं होती है। कोई भी काम अगर लिमिट में किया जाए तो वो हमारी सेहत के लिए खराब नहीं है लेकिन अगर हमें किसी चीज़ की लत लग जाए और हम उसकी अति करने लगें तो यह खतरनाक हो सकता है।

अकसर ऐसा देखा गया है कि कुछ लोग 24 घंटों में से 16 घंटे टीवी देखते हैं। इतना टीवी देखना हमारी आंखों पर बहुत ज़्यादा असर डालता है। अगर बच्चों की बात की जाए तो छुट्टी के दिनों में वो इतना ज्यादा कार्टून देखते हैं कि उन्हें इस बात की भी सुध नहीं रहती कि उन्हें आठ घंटे की नींद लेना भी जरूरी है।

अगर पेरेंट्स ने जरा सा भी इन्हें टीवी देखने से रोकने या टोकने की कोशिश की, तो आजकल के बच्चे पूरा घर सर पर उठा लेते हैं dark circles under eyes । इसके अलावा फ्रेंड्स चाहे बच्चे हों या बड़े, आजकल सब में ये आदत काॅमन है कि सब दिन भर किसी न किसी काम के लिए मोबाइल का प्रयोग करते हैं। एक सेकेंड के लिए भी अगर इनके हाथों से मोबाइल दूर हटा दो तो मानो जान ही निकल जाती है। इतना ज्यादा मोबाइल और टीवी पर फोकस करने या यूं कहें कि आंख गड़ाए रखने के कारण ही आंखों के नीचे काले घेरे बन जाते हैं।

Read also ये है ब्लैक फंगस का काला सच | Black Fungus Disease

नींद पूरी न लेना dark circles under eyes

वैज्ञानिकों को मानना है कि हर आयु वर्ग के लोगों को 24 घंटों में से कम से कम आठ घंटों की नींद लेना जरूरी होता है। अगर आठ घंटे से कम नींद ली जाए तो हमारे शरीर को कई सारी बीमारियां घेर लेती हैं। वैसे आजकल की इस भागदौड़ भरी ज़िंदगी में आठ घंटे की नींद पूरी कर पाना लोगों के लिए संभव नहीं है।

खास तौर पर गृहणियों के लिए तो ये बिलकुल भी पाॅसिबल नहीं है कि वो आठ घंटे की प्राॅपर नींद ले सकें। इसके अलावा जिन लोगों की नाइट शिफ्ट रहती है वो भी आठ घंटे की नींद नहीं ले पाते हैं। ऐसे लोगों को काफी ज्यादा थकान हो जाती है जो कि एक और कारण है डार्क सर्कल होने का।

बहुत अधिक मेकप करना

दोस्तों, आपने अकसर देखा होगा कि बहुत सी महिलाओं को मेकप dark circles under eyes करने का शौक होता है। चाहे उन्हें घर में ही रहना हो या फिर कहीं बाहर जाना हो, लेकिन मेकप करने का शौक नहीं छूटता। सबसे अधिक मेकप करने का शौक युवतियों को होता है।

क्या करें, ये है ही गाॅड गिफ्टेड कीड़ा। जब भी किसी फंक्शन में जाना हो तो मेकप सबसे ज्यादा जरूरी हो जाता है। कई बार तो युवतियां ऐसा मेकप कर लेती हैं कि तौबा-तौबा, उसे हटाना मुश्किल हो जाता है। इसमें कोई दोराय नहीं कि मेकप से खूबसूरती को चार चांद लग जाते हैं।

लेकिन कई बार ये मेकप करने की आदत समस्याओं का कारण भी बन जाती है जैसे डार्क सर्कल। ऐसा इसलिए है क्योंकि कुछ ऐसे काॅस्मेटिक प्रोडक्ट्स बाजार में मिलने लगे हैं जिनमें कैमिकल की मात्रा बहुत अधिक होती है। इसी कारण चेहरे पर ऐलर्जी भी हो जाती है और डार्क सकल्र्स आपकी स्किन को हेलो बोलने चले आते हैं।

शरीर में पानी की कमी

वैज्ञानिकों के अनुसार हमारा शरीर 70 प्रतिशत पानी से बना है। अगर हमारे शरीर में किसी भी कारण से पानी की कमी हो जाती है या हम डीहाइड्रेशन का शिकार हो जाते हैं तो हमें कई सारी स्किन प्राॅब्लम्स dark circles under eyes हो जाती हैं। इसका कारण ये है कि शरीर में पानी की मात्रा कम होने से हमारा ब्लड सर्कुलेशन ठीक से काम नहीं करता है और इस कारण हमारे शरीर की गंदगी भी अच्छे से साफ नहीं हो पाती है। इसकी वजह से हमें कील, मुहासे और डार्क सर्कल जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

नशा करने के कारण

ऐसा कहा जाता है कि हम जो भी खाते-पीते हैं उसका असर सीधे तौर पर हमारे शरीर पर पड़ता है। इसी लिए कहा जाता है कि हमेशा शुद्ध और सात्विक भोजन dark circles under eyes ही खाना चाहिए। जो लोग शराब का सेवन करने हैं या फिर किसी भी प्रकार का नशा करते हैं जैसे स्मोकिंग करना, भाग का नशा करना आदि, उन लोगों में डार्क सकल्र्स की समस्या सबसे ज्यादा देखी जाती है।

read also माइग्रेन क्या है और क्यों होता जाने माइग्रेन के लक्षण और उपाय

धूप में रहना

कहते हैं कि धूप से हमें विटामिन डी भरपूर मात्रा में मिलता है। विटामिन डी एक ऐसा पदार्थ है जो हमारी बाॅडी के लिए बहुत जरूरी होता है। इसकी कमी से हमें कई सारी बीमारियों dark circles under eyes हो सकती हैं। ऐसे में डाॅक्टर्स भी लोगों को कुछ देर धूप सेंकने की सलाह देते हैं। लेकिन इसकी अति करना आपके लिए खतरनाक भी साबित हो सकता है। जो लोग अधिक देर तक धूप में रहते हैं उन लोगों की आंखों के नीचे डार्क सकल्र्स हो जाते हैं। इसके अलावा जो लोग सबसे अधिक काम करते हैं उनमें भी ये समस्या पाई जाती है।

बीमारियां

इसके अलावा जो लोग बहुत ज्यादा बीमार रहते हैं उनमें भी ये समस्या देखी जाती है। जब आप किसी न किसी बीमारी से जूझ रहे होते हैं तो आप सही प्रकार से कुछ भी खा-पी नहीं पाते हैं और यह हमारे बाॅडी पर इफेक्ट डालता है। जब हम ठीक से खाना नहीं खाएंगे तो हमें कमजोरी महसूस होने लगती है। साथ ही हमारा चेहरा dark circles under eyes बिलकुल डल और सांवला हो जाता है। आखों के नीचे काले घेरे हो जाते हैं।

तो दोस्तों ये तो थे कुछ कारण जिनकी वजह से हमें डार्क सर्कल की प्राॅबलम होती है। चलिए अब जान लेते हैं कि वो कौन से उपाय हैं जिन्हें करके आप इस प्राॅब्लम से बहुत जल्द छुटकारा पा सकते हैं।

read also इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवा का काम करगे ये उपाय

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here