delicious indian food

दोस्तों, हमारे शरीर के लिए तीन समय खाना खाना बेहद जरूरी है। खाना खाने से हमें एनर्जी मिलती है और हम पूरे दिन एक्टिव रहते हैं। मगर दोस्तों ये खाना भी हमारे लिए तब बवाल बन जाता है जब हम ओवर ईटिंग delicious indian food कर लेते हैं। या हम खाना खाने के समय पर ध्यान नहीं देते।
किसी भी समय कुछ भी खा लेने से हमारा पेट उस खाने को पचा नहीं पाता और हमें बदहजमी, खट्टी डकार, गैस आदि की समस्या हो जाती है। इसलिए खाना हमेशा समय पर और शुद्ध ही खाना चाहिए। वैसे भी भारत में ऐसे ऐसे व्यंजन मिलते हैं जो शुद्ध होने के साथ साथ शाकाहारी भी है और स्वादिष्ट भी।
<इन व्यंजनों को खाने का सोच कर ही मुंह में पानी आने लगता है। चलिए आपको भारत देश में पाए जाने वाले और हर घर में बनाए जाने वाले कुछ पकवानों की याद दिलाते हैं। ये ऐसे व्यंजन हैं जिन्हें आप चटखारे लेकर खाते हैं।

भारत के लज़ीज़ पकवान | Delicious Indian Food

अरहर की दाल

दोस्तों ये एक ऐसी चीज़ है जो भारत के लगभग हर घर में बनाई जाती है। अगर हम इसे भारत delicious indian food की हर रसोई की शान कह दें तो इसमें कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। जब इस दाल का स्वाद हमारे मुंह में जाता है तो मन करता है कि और मिल जाए पीने को ये दाल। ‘ये दिल मांगे मोर’ बस यही शब्द आपके मुंह से निकलते होंगे इसे पीने के बाद। क्यों सही कहा ना? दोस्तों, रसोई घर में इसे बनाने का अलग अलग तरीका है।
वैसे ज्यादातर घरों में और होटलों में भी इस दाल को बनाते वक्त कई प्रकार के मसालों और सब्जियों का प्रयोग होता है। जैसे लाल मिर्च पाउडर, जीरा, हींग, टमाटर, लेहसुन और देसी घी का तड़का जब इसमें लगता है तो हर कोई इसकी खुशबू और स्वाद में खो सा जाता है।
जब ये दाल घरों में बनती है तो आस पड़ोस तक इसकी महक जाती है और वो भी इस दाल को पाने के लिए ललचा जाते हैं। इतनी सारे मसालों का प्रयोग होने के कारण दोस्तों, इसे तड़के वाली दाल delicious indian food भी कहा जाता है। कई जगह इसे पीली दाल भी कहते हैं क्योंकि इसका रंग पीला होता है। कई लोग इस दाल की खिचड़ी खाना भी पसंद करते हैं। साथ में घी और अचार मिल जाए तो इसका स्वाद दुगना हो जाता है।

Read also ये है हेल्थ का सीधा फंडा | Health Tips

 

राजमा

‘पंजाबियां दी शान वखरी’। दोस्तों ये ऐसे ही नहीं कहा जाता। इस कहावत के पीछे वैसे तो और भी कई कारण हैं लेकिन इसका मुख्य कारण है पंजाबियों का खान-पान। इस कहावत में चार चांद लगाता है यह व्यंजन राजमा delicious indian food । राजमा तकरीबन हर भारतीय रसोई में हफ्ते में एक या दो बार तो बनाया ही जाता है।
अगर हम आपको कहां कि राजमा का एक और फेमस नाम है उसका नाम बताएं तो क्या आप बता पाएंगे? चलिए हम बता ही देते हैं। फ्रेंड्स राजमा को पूरी दुनिया में रेड किडनी के नाम से भी जाना जाता है। राजमे का जायका तब और भी ज्यादा बढ़ जाता है जब इसे अदरक, टमाटर, प्याज, लेहसुन एवं अन्य मसालों के साथ मिलाकर बनाया जाता है।
अधिकतर घरों में ये देखा गया है कि राजमा को लोग चावल के साथ खाना ज्यादा पसंद करते हैं। राजमा चावल को लोग बड़े चाव से खाते हैं। केवल पंजाब ही नहीं बल्कि अन्य राज्यों में भी इस व्यंजन को पसंद किया जाता है। सबसे ज्यादा अगर राजमा चावल का भंडारा कहीं लगता है तो वो है delicious indian food मां वैष्णो देवी के मंदिर जाते समय। यहां रास्ते भर राजमा चावल का लंगर चलता रहता है जिसे खाने के लिए लोग दौड़े चले आते हैं। क्योंकि इसे खाकर उन्हें एनर्जी मिलती है और फिर वो माता का जयकारा लगाते हुए आगे बढ़ते जाते हैं।

दाल मखनी


पूरे भारत में शायद ही ऐसी कोई रसोई होगी जो इसकी खुशबू से महकती नहीं होगी। दाल मखनी को संपूर्ण भारत में बड़े चाव के साथ खाया जाता है। इसे अलग अलग नामों से भी जाना जाता है जिनमें से एक है delicious indian food मां की दाल। ये नाम इस दाल को इसलिए दिया गया क्योंकि इसमें राजमा प्रचुर मात्रा में डाला जाता है।
जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है यह दाल बनने के बाद इसमें अधिक मात्रा में अमूल मक्खन या फिर घर का बना मक्खन डाला जाता है। इसके अलावा इसमें क्रीम भी डाली जाती है और गार्निशिंग के लिए उपर से धनिया भी डाला जाता है। मखनी दाल का नाम सुनते ही सभी के मुंह में पानी आ जाता है।
इस दाल को हर घर और होटल में बनाया जाता है। इसे अगर तंदूरी रोटी या नान के साथ खाया जाए तो फिर कहने की क्या। लोग इस दाल को खाना खूब पसंद करते हैं। पंजाबी लोग इसे चावल या मिस्सी रोटी से खाना पसंद करते हैं।

बैंगन का भरता


बैंगन का भरता हर भारतीय रसोई में बनाया जाता है। इस भरते का स्वाद तब और भी ज्यादा बढ़ जाता है जब इसे कोयले पर पकाया जाए। इस मशहूर भारतीय व्यंजन को बनाने के लिए सबसे पहले बैंगन को अच्छी तरह से साफ किया जाता है।
फिर करीब एक घंटे तक उसे गैस या कोयले पर भूंजा जाता है। बैंगन जब पूरी तरह से भुंज जाता है और काला पड़ जाता है। तब इसे गैस पर से उतार कर इसके छिलके को उतारा जाता है और इसे मसल दिया जाता है।
मसलने के बाद इसमें प्याज, हरि धनिया, हरि मिर्च और स्वाद अनुसार नमक मिलाया जाता है। इस लोकप्रिय भारतीय डिश delicious indian food को लोग ज्यादातर अरहर की दाल या फिर चावल के साथ खाना बेहद पसंद करते हैं। कुछ लोग तो इसे बिहार की फेमस डिश लिट्टी के साथ भी खाना पसंद करते हैं।

कढ़ी-पकौड़ा


दोस्तों, कढ़ी भारतीय रसोईयों की शान delicious indian food है। भारतीयों का यह पसंदीदा व्यंजन है। इस व्यंजन को बनाने के लिए सबसे पहले बेसन की छोटी-छोटी और फूली हुई पकौड़ियां बनाई जाती हैं। इसके बाद इन पकौड़ियों को ऐसी ग्रेवी में डालकर पकाया जाता है जो दही और बेसन का मिश्रण होता है।
फिर इसे काफी देर तक कड़छी की मदद से चलाया जाता है। भारतीय रसोइयों में कढ़ी को बनाने का अलग अलग तरीका है। हर घर में कढ़ी को अक्सर गुरुवार के दिन बनाया जाता है।
कढ़ी का स्वाद विभिन्न राज्यों में अलग अलग होता है। आपको बता दें कि कुछ लोग कढ़ी में बेसन की पकौड़ियों की बजाए बूंदी भी डालते हैं।यह अपनी अपनी पसंद delicious indian food पर निर्भर करता है कि कोई इसे कैसे खाता है। कढ़ी को ज्यादातर लोग चावल के साथ ही खाना पसंद करते हैं।

Read also योग को अपनाएं, लाइफ में हैपीनेस लाएं | World Yoga Day

आलू का पराठा


हर भारतीयों के घरों में सुबह के नाश्ते के रूप में आलू के परांठे जरूर बनते हैं। यह एक ऐसा नाश्ता है दोस्तों जो बहुत ही पौष्टिक है। साथ ही यह टाइम सेविंग नाश्ता भी है। क्योंकि यह जल्दी से बन जाता है। इसे खाने के लिए किसी भी प्रकार की सब्जी बनाने की जरूरत नहीं है।
अगर बात की जाए इसे बनाने के तरीके की तो इसके लिए सबसे पहले आलू को उबाला जाता है। जब आलू अच्छी तरह से उबल जाते हैं तो उसे मैश किया जाता है। आलू को मैश करके उसमें स्वाद अनुसार नमक डाला जाता है। इसके साथ ही इसमें अलग अलग तरह के मसाले डाले जाते हैं जैसे लाल मिर्च पाउडर, अमचूर पाउडर, धनिया, जीरा आदि।
इसके बाद इसे आटे की पेड़ी में भर कर तवे पर घी या तेल में हलकी आंच पर सेंका जाता है। याद रहे, अगर आपने आंच तेज की तो पराठे जलने का खतरा रहता है। आलू के परांठे delicious indian food को सभी बहुत पसंद करते हैं। इसे ज्यादातर लोग चाय के साथ या फिर धनिया-टमाटर की चटनी के साथ खना पसंद करते हैं। वैसे कुछ लोग इसे दही और अचार के साथ भी खाना पसंद करते हैं।

पालक-पनीर


दोस्तों, यह डिश हर भारतीय रसोई में बनाई जाती है। इसे बनाने के लिए सबसे पहले पालक को खौलते हुए पानी में किसी पतीले में यसा फिर कूकर में डाल दिया जाता है। इसके बाद उसे निकालकर मिक्सी में पीस लिया जाता है।
पालक को पीसने के बाद तरह-तरह के मसाले मिलाकर उसकी ग्रेवी तैयार की जाती है। इसके बाद इसमें छोटे-छोटे टुकड़े पनीर के डालकर पका लेते हैं। पालक में भरपूर मात्रा में आयरन और प्रोटीन होता है।
पालक को खाने से हमें आयरन की कमी नहीं रहती और हम कई साई बीमारियों से भी बच जाते हैं। साथ ही इसे खाने से हमारी आंखों की रौशनी भी तेज़् होती है। लोग इसे अक्सर पूड़ी या चपाती के साथ खाना पसंद करते हैं।

मटर-पनीर


फ्रेंड्स मटर-पनीर एक ऐसी डिश है जिसे खाना हर उम्र के लोग पसंद करते हैं। मटर-पनीर की सब्जी अनेकों शादी समारोह और अन्य कार्यक्रमों के दौरान बनाई जाती है।
इसे खाना लोग अपनी शान समझते हैं। इसे बनाने के लिए सबसे पहले पनीर के टुकड़े किए जाते हैं फिर उसको गर्म तेल में अच्छी तरह तला जाता है। जिन चीज़ों से इसकी ग्रेवी बनती है वो हैं, टमाटर, प्याज, लेहसुन अदरक, हरी-मिर्च  आदी। जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, इसकी ग्रेवी में हरी मटर भी डाली जाती है।
साथ ही कई अन्य मसाले भी इसमें पड़ते हैं। जब मटर अच्छे से पक जाती है तो फिर इसमें पनीर के टुकड़े डालकर फिर से पकाया जाता है। इस सब्ज़ी को गार्निशिंग के लिए ऊपर से हरि धनिया डाली जाती है।
तो दोस्तों, ये थी कुछ खास डिशेज़ जो भारत में काफी ज्यादा मशहूर हैं। हमें नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं कि आप इनमें से कौन सी डिश ट्राई करना चाहेंगे।

Read also 10 Most Effective and Natural Ways to Boost Immunity

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here